safed musli benifits

safed musli Powder के फायदे और नुकसान

आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज संभव है आयुर्वेद में सफेद मूसली का बहुत महत्व है

सफ़ेद मूसली के बारे में आपने भी सुना होगा।

सफ़ेद मूसली एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो भारत के जंगलो में पायी जाती है।

आमतौर पर यह गीले इलाको या जंगलो में अपने आप उगती है, लेकिन कुछ जगह

इसकी खेती भी की जाती है।

इसका वैज्ञानिक नाम Chlorophytum Borivilianum है।

मूसली दो प्रकार की होती है
सफ़ेद मूसली
काली मूसली
सफेद मूसली को ज्यादा अच्छा माना जाता है मूसली का प्रयोग बहुत बीमारियों को ठीक

करने में इसका प्रयोग होता है।

सफेद मूसली के फायदे

1 सेक्स कमजोरी को ठीक करना

Safed Musli Powder सेक्स कमजोरी को ठीक करने में आपकी हेल्प करती है यह आपकी

नसों को अंदर से मजबूत बनाती है और आपकी सेक्स शक्ति को बढ़ाती है।

2 safed musli Powder टेस्टोस्ट्रोन लेवल को बढ़ाती है

सफेद मूसली पुरुषो में टेस्टोस्ट्रोन लेवल को बढ़ाती है पुरुषो में जब टेस्टोस्ट्रोन की

संख्या कम हो जाती है इस कमी को सफ़ेद मूसली पूरा करती है।

3 लिंग के टेढ़ेपन को ठीक करना –

सफेद मूसली लिंग के टेढ़ेपन को ठीक करने में हेल्प करता है

यह erectile dysfunction को ठीक करने में हेल्प करती है।

4 बीमारियों से लड़ने में मदद करती है –

सफेद मूसली आपके शरीर में रोगो से लड़ने की शक्ति प्रदान करती है

जिस से आप अंदर से मजबूत होते है।

5 तनाव को खत्म करने के लिए-

सफ़ेद मूसली आपके तनाव को खत्म करने में आपकी हेल्प करती है

जब भी आप ज्यादा स्ट्रेस में हो तो आप सफेद मूसली का प्रयोग कर सकते है।

6 मधुमेह में भी सहायक होता है –

सफेद मूसली मधमेह या शुगर को कम करने में भी हेल्प करती है

इसके अलावा भी यह अन्य बीमारियों को ठीक करने में हेल्प करती है।

7 मोटापा रोकने में सहायक-

सफेद मूसली मोटापे को रोकने में हेल्प करती है

सफेद मूसली आपके वजन को नियंत्रित करती है।

8 safed musli Powder महिलाओं के लिए प्रेग्नन्सी में लाभकारी –

सफ़ेद मूसली महिला को गर्भावस्था में बहुत हेल्प करती है यह अंदर से मजबूती प्रदान करती है

महिला के मिल्क को बढ़ने में हेल्प करती है।

9 स्पर्म की संख्या और गुणवत्ता को बढ़ती है

सफ़ेद मूसली स्पर्म की संख्या और गुणवत्ता दोनों को बढ़ाने में हेल्प करती है

यह गुणकारी गुणों से भरपूर होती है।

10 मानसिक अवसाद में सहायक-

सफ़ेद मूसली मानसिक अवसाद के साथ साथ मस्तिष्क की

सभी प्रकार की समस्या को ठीक करने में हेल्प करती है।

सफेद मूसली को ज्यादा मात्रा में लेने से नुकसान भी हो सकता है आइए इस पर भी चर्चा करते है

1.भूख कम हो जाना –

अगर आप सफेद मूसली का अधिक इस्तेमाल करेंगे तो भूख लगनी कम हो

जाएगी इसलिए इसका प्रयोग ज्यादा मात्रा में ना करे।

2 जी मिचलाना –

सफ़ेद मूसली का प्रयोग अगर ज्यादा मात्रा में कर लिया जाये

तो इस से जी मिचलाना शुरू हो जाता है इसलिए इसका प्रयोग सोच समझ कर और कम मात्रा में करना चाहिए।

3 कफ की समस्या हो जाती है –

अगर सफ़ेद मूसली का प्रयोग अधिक मात्रा में कर लिया जाये तो वात ,

पित और कफ का संतुलन बिगड़ जाता है और शरीर में समस्या आ जाती है

कफ सम्बन्दित अनेक प्रकार की प्रॉब्लम हो जाती है।

4 पाचन खराब हो जाता है –

अगर सफेद मूसली का प्रयोग सही मात्रा में ना किया जाये तो

व्यक्ति की पाचन सकती खराब हो जाती है और उसे पाचन सम्बन्दित बीमारी हो जाती है।

अतः हम निष्कर्ष पर पहुँचते है कि अगर सफेद मूसली का प्रयोग कम

और सही मात्रा में किया जाता है तो यह बहुत फायदेमंद जड़ी बूटी है

इसका प्रयोग बहुत बीमारी को ठीक करने में होता है।

सेक्स से सम्बंदित हर बीमारी या समस्या में सफ़ेद मूसली का बहुत प्रयोग होता है

इसलिए जब भी सफ़ेद मूसली का प्रयोग करे तो डॉक्टर से सलाह लेकर करे।

आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी तो कमेंट करे।

नीचे हमारी कंपनी के प्रोडक्ट दिए गए है उन्हें भी देख सकते है

review our google my business profile

Leave a Reply

Your email address will not be published.

All Products

Call Now +91-86075 00007