पुरुष अपनी शारीरिक कमजोरी को मिटाकर पायें नया जोश

आज की भागदौड़भरी जिंदगी में हर कोई इतना वयस्त है कि खुद के लिए समय नहीं निकाल पा रहा है। खासकर अगर हम पुरुषों की बात करें तो वे अपने आप को बहुत कम समय दे पाते हैं। क्योंकि पुरुष घर का मुखिया होने के नाते परिवार का पालन पोषण करता है। पुरुष पैसा कमाने के लिए सुबह काम पर जाता है और थक-हार कर शाम को घर वपिस आता है। ऐसे में अगर वह शारीरिक कमजोरी का शिकार हो जाता है तो वह सही ढ़ग से काम नहीं कर पाता।

अधिकतर लोग शारीरिक कमजोरी को पहचान नहीं पाते हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि थकान महसूस होना ही शारीरिक कमजोरी होती है लेकिन ऐसा नहीं है। दिनभर काम करने के बाद थकान महसूस होना लाजमी होता है। ऐसी थकान थोड़ा आराम करने या निंद लेने के बाद अपने आप दूर हो जाती है। लेकिन फिर भी आप थके थके रहते हैं तो यह शारीरिक कमजोरी हो सकती है। इस लेख में हम आपको बताएंगें की शारीरिक कमजोरी किसे कहते हैं और इसके लक्षण क्या और कारण कौन से होते है। साथ ही साथ हम आपको शारीरिक कमजोरी को दूर करने की आयुर्वेदिक दवा के बारें में भी बताएंगें। इसलिए इस लेख को अंत तक जरुर पढ़ें।

शारीरिक कमजोरी किसे कहते है। Sharirik Kamjori Kise Kahate Hai

जब थोड़ा सा काम करने पर बहुत अधिक थकान महसूस हो उसे शारिरिक कमजोरी कहते हैं। शारीरिक कमजोरी के कारण व्यक्ति किसी भी काम को करने में असक्षम होता है। इसके अलावा जब कोई व्यक्ति अपने शरीर का कोई हिस्सा ठीक से ना हिला पाएं तो यह भी शारीरिक कमजोरी होती है। चलिए अब आपको शारीरिक कमजोरी के लक्षणों के बारे में आपको बताते है।

शारीरिक कमजोरी के लक्षण – Sharirik Kamjori ke Lakshan

  • थकावट- यह लक्षण शारीरिक कमजोरी का एक ऐसा लक्षण है जिसे व्यक्ति जल्दी महसूस करता है। लेकिन कई लोग इसे पहचाने में गलती करते है। क्योंकि किसी भी काम को करने के बाद थकावट होना समान्य बात है लेकिन यह तब शारीरिक कमजोरी का कारण बन सकता है जब लगातार कई दिन लगातार थकावट महसूस हो।
  • प्रभावित अंग का कार्य करने में देरी करना – इसे हम एक उदाहरण के माध्य से जानेगें। जैसे अगर आप लेपटॉप पर काम कर रहे है और आपके हाथ तेजी से काम नहीं कर पा रहे है या चलते समय आपके पैर कमजोरी महसूस कर रहे है तो यह शारीरिक कमजोरी है।
  • सुस्ती – शारीरिक कमजोरी से पीड़ित व्यक्ति सुस्त रहता है। सुस्ती में सोचने की क्षमता कम हो जाती है ऐसे में व्यक्ति किसी काम को करने में असक्षम रहता है।
  • माशपेशियों में दर्द होना – माशपेशियों का दर्द शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है। क्योंकि हमारे शरीर के लगभग हर हिस्से में माशपेशियों के ऊतक होते है।
  • बोलने में तकलीफ – शारीरिक कमजोरी की वजह से बोलने में तकलीफ होती है।
  • चक्कर आना – कई बार ज्यादा शारीरिक कमजोरी होने पर चक्कर आ जाते है।
  • ठंड ज्यादा लगना – जब गर्मी में ठंड लगे या कंपन मेहसूस हो तो यह शारीरिक कमजोरी का लक्षण है।

शारीरिक कमजोरी के कारण – Sharirik Kamjori ke Karan

  • चिंता या डिप्रेशन – अधिक चिंता या डिप्रेशन एक मुख्य कारण है। जिसकी वजह से शारीरिक कमजोरी हो जाती है। यह आसानी से दूर नहीं होता इसलिए अधिक चिंता नहीं करनी चाहिए। 
  • विटामिन की कमी – विटामिन B12, विटामिन B6, विटामिन C की कमी के कारण भी  शारीरिक कमजोरी होती है।
  • खून की कमी – शरीर में खून की कमी होने के कारण भी शारीरिक कमजोरी हो जाती है।
  • लंबी बिमारी के कारण – डयबिटीज, थायराईड और टीबी जैसी अनेक बीमारियों में रोगी का शरीर लंबे समय तक बिमारी से लड़ता है। ऐसे में शरीर की उर्जा में कमी आ जाती है जिसके कारण थकान महसूस होती है।
  • आयरन की कमी – आयरन की कमी के कारण लाल रक्त कोशिकाओं का स्तर गिर जाता है। जिसकी वजह से कमजोरी महसूस होती है।
  • अधिक उर्जा का इस्तेमाल करने से – जरुरत से ज्यादा उर्जा का इस्तेमाल करने के कारण भी शारीरिक कमजोरी महसूस होती है।
  • उचित आहार के अभाव में – पोषक तत्वो से भरपूर आहर खाने से हमें उर्जा मिलती है। आहार ना मिलने  से शरीर को उर्जा नहीं मिल पाती जिससे शरीर में कमजोरी महसूस होती है।
  • नशीले प्रदार्थों का सेवन करने से– नशीले प्रदार्थो के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिसके कारण हमारा शरीर किसी भी बिमारी से लड़ने में असक्षम होता है
    इसी कारण शरीर में कमजोरी आने लगती है।

शारीरिक कमजोरी दूर करने की आयुर्वेदिक दवा – Sharirik Kamjori Dur Karane ki Ayurvedic Dwa

WIN UP Capsule पुरुषों की शरीरिक कमजोरी को दूर कर उनमें नया जोश भरता है। विन अप कैप्सूल 100 प्रतिशत आयुर्वेदिक है और Ayurvedic होने की वजह से इसका कोई भी साइड इफैक्ट नहीं है। इसके प्रत्येक कैप्सूल में शामिल है- विथेनिया सोमनीफेरा, शतावरी रेसमोसस, अकरकरा, ऑर्किस मस्कुला, मिरिस्टिका फ्रैग्रेंस, मुकुना प्रुरिता, म्यूकुन, प्रुरिटा, कूसस सैटिवस, मकरध्वज, लौह भस्मा, त्रिवंग भस्म, सुधा शिलाज। ये सभी आयुर्वेद्क जड़ी बूटीयां है। तो अगर आपके अंदर भी शारीरिक कमजोरी है तो आप बेफिकर होकर WIN UP Capsule का सेवन करें। शरीर में जितना जोश होगा आप उतना ही बेहतर तरीके से सैक्स भी कर पाएंगें। विन अप कैप्सूल केवल पुरुषों के लिए है।

Win up Capsule कैप्सूल की अधिक जानकारी के लिए लिए आप हमें 8607500007 नम्बर पर कॉल या मैसेजे कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

All Products

CALL US: +91-8607500007+91-8607300007